Ad

Tag: Samajvadi Party

मुलायम सिंह यादव ने भी बिना बहस कराये खाद्य सुरक्षा अध्यादेश लाये जाने के विरोध में ताल ठोंकी : सरकार से समर्थन वापिसी की धमकी

केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी खाद्य सुरक्षा अध्यादेश के विरोध में अब सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने भी ताल ठोंक दी है|एन सी पी के अध्यक्ष और कृषि मंत्री शरद पवार के बाद अब मुलायम सिंह का विरोध सरकर के लिए जोखिम पैदा कर सकता है|
मुलायम सिंह ने एलानिया कह दिया है कि सरकार इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर बेक डोर से अध्यादेश लाने का प्रयास नहीं करें वरना सपा किसी भी सीमा तक जा सकती है| गौरतलब है कि सपा ने सरकार को बाहर से समर्थन दिया हुआ है| और सपा के विड्रावल से सरकर खतरे में आ सकती है |उत्तर प्रदेश के मंत्री और सपा के प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने अपनी पार्टी का रुख साफ़ करते हुए बताया कि यह महत्वपूर्ण मुद्दा है और १०० करोड़ लोगों से जुडा हुआ है| इसीलिए इसे हडबडी में लाने के बजाये इस पर व्यापक बहस होनी चाहिए मानसून सत्र में इसके व्यवहारिक पक्ष को सामने लाना चाहिए| सपा पार्टी का मानना है कि चुनावों में राजनीतिक लाभ पाने के लिए ही हडबडी में बिल को लाया जा रहा है जिसका भरपूर विरोध किया जाएगा|
इससे पूर्व सी पी आई+एन सी पी +भाजपा+जे डी यू बहस की मांग करती आ रही हैं लेकिन केंद्र सरकार खाद्य सुरक्षा यौजना को गेम चेंजर के रूप में देख रही है और बकौल संसदीय कार्य मंत्री कमल नाथ सरकार भी किसी हद तक जा सकती है|

सपा ने पूर्व घोषित” हलके” उम्मीदवार बदलने शुरू किये: बिजनौर से अनुराधा चौधरी का भी टिकट कटा

उत्तर प्रदेश में सत्ता रुड समाज वादी पार्टी ने अब लोक सभा के चुनावों में हलके साबित हो सकने वाले पूर्व घोषित उम्मीदवारों के स्थान पर जिताऊ उम्मीदवारों को उम्मीदवारी देनी शुरू कर दी है|बिजनौर से अनुराधा चौधरी सहित पञ्च उम्मीदवारों को बदल दिया गया है|
समाज वादी पार्टी के प्रवक्ताऔर मंत्री वरिष्ठ राजेंद्र चौधरी ने बताया कि
[१]बिजनौर से अनुराधा चौधरी[२]अलीगढ से के शर्मा[पत्नी गुड्डू पंडित ][३]आजम गढ़ से[पूर्व मंत्री] बलराम यादव के अलावा [४]गोंडा से के वी सिंह [५]सहारनपुर में पूर्व घोषित उम्मीद वार बदल दिए गए हैं इनके स्थान पर निम्न सदस्यों पर भरोसा जताया गया है| अनुराधा रालोद छोड़ कर सपा में शामिल हुई थी
[अ]बिजनौर =पूर्व सांसद आमिर आलम [आ]अलीगढ==जफ़र आलम[इ]गोंडा=राहुल शुक्ला[सपा विधायक के पुत्र][ई]आजम गढ़ से हवलदार सिंह[उ]सहारनपुर से फिरोज आफताब
इस बदलाव के कारण बताते हुए वरिष्ठ समाजवादी नेता ने कहा कि पार्टी को लग रहा है कि ये उम्मीद वार चुनावी समर को पार नही कर पायेंगे इसीलिए अब जिताऊ उम्मीदवार तलाशे गए हैं| मेरठ में बसपा द्वारा मुस्लिम वोटों का ध्रुवि करण किये जाने से अविचलित राजेंद्र चौधरी ने कहा कि मुसलमानों का भरोसा बसपा पर नही वरन सपा पर है और रहेगा गौरतलब है कि लोक सभा के चुनावो के लिए सपा ने पहले ही अपने उम्मीदवार घोषित करने शुरू कर दिए थे अब जैसे जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे ही पार्टी ने जिताऊ उम्मीदवार लाने शुरू कर दिए है|

उत्तर प्रदेश में स्मारकों के व्यवसाईक उपयोग और उसके विरोध को लेकर वोट बैंक की राजनीती शुरू हो गई है

:उत्तर प्रदेश में जाति धर्म के आधार पर राजनीती करने वाली सत्ता रुड समाज वादी [एस पी]और विपक्षी बहुजन समाज वादी[बी एस पी] पार्टियां लगता है अब जातियों को आपस में लड़ाने की तैय्यारी में लग गई है तभी दलित उत्थान के नाम पर बनाए गए स्मारकों को लड़ाई का मैदान बनाया जा रहा है| प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सरकार ने दलित महापुरुषों की याद में बने १० अरब की लागत के विशाल स्मारकों से अतिरिक्त आय अर्जित करने के लिए स्मारकों के खाली हिस्सों को मैरिज होम्स [शादी-ब्याह] की तरह प्रोफेशनल उपयोग की इजाजत दे दी है जिसके विरोध में बी एस पी ने दलितों के सड़क पर उतरने की चेतावनी देते हुए सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है|मुख्य मंत्री का कहना है कि स्मारकों में जनता का पैसा खर्च हुआ है। वहां शादी होने से शादी करने वालों की नहीं, स्मारकों की ख्याति ही बढे़गी। उनका प्रचार भी होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि चुनाव के समय स्मारकों में अस्पताल खोलने और बेहतर इस्तेमाल की बात हुई थी, तब उसे अंदर से नहीं देखा था। यहां के एक स्मारक में अष्टधातु के जानवर और पेड़ लगे हैं। वहां के खाली स्थानों में शादी-ब्याह होने से कौन सी दिक्कत है। मुख्यमंत्री बिना नाम लिए हुए कहा कि एक सरकारी स्थान की बुकिंग के लिए लाइन रहती है, क्योंकि सब जानते हैं कि अच्छे स्थान पर कम पैसों में शादी हो जाएगी। ऐसे में स्मारक का बेहतर इस्तेमाल हो जाएगा। शादी ब्याह होगा तो उनका प्रचार भी हो जाएगा। स्मारकों की ख्याति भी फैल जाएगी।
इस सरकारी घोषणा के विरुद्ध बी एस पी कड़ी हो गई है|सत्ता मुक्त हुई बी एस पी ने इस मुद्दे को सडकों पर ले जाने की बात कह दी है और जाति वादी युद्ध की भूमिका की तरफ इशारा भी कर दिया है|पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने राष्ट्रपति से मुलाकात करके प्रदेश सरकर के निर्णय को दलित विरोधी बताते हुए सरकार को तत्काल बर्खास्त किये जाने के मांग भी कर दी है|
लगता है के २०१४ में होने वाले लोक सभा के चुनावों में अपने अपने वोट बैंक को जोड़े रखने के लिए दोनों पार्टियों को एक मुद्दा मिल गया है|

रालोद ने यूपीए के गठजोड़ से लोक सभा के चुनाव लड़ने का ऐलान किया

राष्ट्रीय लोकदल [रालोद] के प्रदेश अध्यक्ष ठाकुर मुन्ना सिंह चौहान ने मेरठ में रविवार को प्रेस कांफ्रेंस बुलाई जिसमे चौहान ने अखिलेश यादव की प्रदेश में सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताया। मुलायम सिंह यादव को मुसलमानों को गुमराह करने वाला बताया और पार्टी के पारंपरिक मुद्दे हाइकोर्ट बेंच व हरित प्रदेश के मुद्दे को दोहराया। ।
सर्किट हाउस में रविवार को रालोद के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सीबीआइ आजाद होनी चाहिए और दारोगा नजरबंद। अपराध बढ़ने पर चिंता जताते हुए कहा कि अपराध चाहे कितना बड़ा क्यों न हो, दरोगा के चाहने पर ही दर्ज होता है। गेहूं खरीद का लक्ष्य 60 लाख टन निर्धारित किया गया, जबकि अब तक लक्ष्य महज चार लाख टन ही पहुंचा है। सरकारी क्रय केंद्रों पर अव्यवस्था इसके लिए जिम्मेदार है
सपा और लोक दल में वर्चस्व की लड़ाई में लटके पड़े मेरठ में हवाई अड्डा के लिए प्रदेश से जमीन के लिए पुरानी मांग को दोहराया|
चौहान ने कहा पार्टी अपने दम पर यूपीए के गठजोड़ से चुनाव लड़ेगी।सीटों पर अभी बात होनी है। गौरतलब है के रालोद अपने तीन सांसदों के साथ यूं पी ऐ सरकार में हैं शायद इसीलिए कांग्रेस के भ्रष्टाचार पर वह बौखला गए फिर संभल कर बोले भ्रष्टाचार के दो स्वरूप हैं, कांग्रेस का भ्रष्टाचार अलग, सपा का अलग। सपा ने खाद्यान्न, मिड-डे मील आदि घोटाले किए हैं। इस दौरान जिलाध्यक्ष चौ. यशवीर सिंह, राजेंद्र सिंह जानीराजेंद्र चिकारा, आदि मौजूद रहे।

आजम खान अमेरिका में पूछ ताछ से आग बबूला हुए

उत्तर प्रदेश के [मूडी] नगरीय प्रशासन मंत्री आजाम खान ने अमेरिका में पूछताछ से नाराज़ होकर अमेरिका में ज्यादा रहने की यौजना रद्द कर दी है| आज़म खान अमेरिका के हार्वर्ड विश्वविद्यालय में महा कुम्भ स्नान संबंधित एक प्रेजेंटेशन देने गए थे लेकिन बुधवार को बोस्टन एयरपोर्ट पर अधिकारियों ने बदसलूकी की और उन्हें रोक लिया। करीब एक घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। उनके साथ यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी थे। खान ने इस बदसलूकी के लिए माफी की मांग की है।
इस घटना के बाद खां ने अमेरिका में ज्यादा दिन रहने की योजना रद्द कर दी है और युनिवर्सिटी में लेक्चर देकर जल्द वापस आने का फैसला किया। खान इस घटना से काफी व्यथित बताये जा रहे हैं। उन्होंने साफ कहा कि उनके पास डिप्लोमेटिक पासपोर्ट होने के बावजूद भी केवल मुस्लिम होने के फलस्वरूप उनके साथ ऐसा व्यवहार किया गया है। गौरतलब है कि अमेरिका के इसी बोस्टन में हाल ही में धमाके हुए हैं और जिसमे तीन लोग मारे गए और लगभग २०० घायल हुए हैं| इसीकारण वहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है।
खां मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट से यहां आए थे। उन्होंने मुख्यमंत्री के साथ कुंभ के आयोजन के संबंध में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में प्रजेंटेशन दिया है। यादव और खान के एयरपोर्ट पहुंचने पर वहां के अधिकारियों ने औपचारिकताएं पूरी करने में मदद की। भारतीय दूतावास के अधिकारी भी वहां सहायता के लिए थे।मालूम हो कि आज़म खान उत्तर प्रदेश में एकआदम कद मंत्री हैं और अपने मूड के लिए जाने जाते हैं|अभी प्रदेश में मनाये गए कुम्भ स्नान के दौरान भगदड़ मचने से सैकंडों लोग मारे गए थे तब भी सरकार कि काफी आलोचना हुई थी|अब फिर बोस्टन में कुम्भ पर प्रेसेंटेशन देने आये मंत्री के अहम् को ठेस लगी है|लगता है कि उत्तर प्रदेश की सरकार के लिए कुम्भ स्नान कुछ अच्छे अनुभव नहीं लाया है|

मुलायम सिंह यादव के वेटिंग गेम के संकेत आते ही चेन्नई में स्टालिन के घर सी बी आई की चल रही रेड रोक दी गई

एम् करुणानिधि के बेटे स्टालिन के घर पर मारे जा रहे सीबीआई के छापे अचानक रोक दिए गए हैं| इसे सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह को सरकार से सपोर्ट विड्रा करने से रोकने और पी चिदम्बरम का कद तमिल नाडू में बढाने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है| सपा की चल रही संसदीय दल की मीटिंग से एक खबर आई कि मुलायम सिंह यादव ने श्रीमती सोनिया गांधी द्वारा माफ़ी मांगने और बेनी प्रसाद वर्मा के विरुद्ध कार्य वाही के लिए कुछ समय माँगा है| इस खबर के तत्काल पश्चात खबर आई कि स्टालिन के विरुद्ध सी बी आई के छापे रोक दिए गए हैं| यह अपने आप में आश्चर्य जनक कदम है|
गौरतलब है कि पांच साल पुराने अवैध रूप से आयातित कार की ड्यूटी चोरी के मामले में स्टालिन के घर पर सीबीआई ने छापेमारी की। ये छापा ऐसे वक्त में पड़ा है जब सरकार से समर्थन वापिस लिए डीएमके को दो दिन ही बीते हैं। सीबीआई ने स्टालिन के सेक्रेटरी के घर पर भी छापेमारी की है। स्टालिन के पिता एम् करुणानिधि १८ सांसदों वाली डी एम् के के सुप्रीमो हैं|

मुलायम सिंह यादव के वेटिंग गेम के संकेत आते ही चेन्नई में स्टालिन के घर सी बी आई की चल रही रेड रोक दी गई

मुलायम सिंह यादव के वेटिंग गेम के संकेत आते ही चेन्नई में स्टालिन के घर सी बी आई की चल रही रेड रोक दी गई


बताया जा रहा है कि डीआरआई ने सीबीआई से विदेशी कार आयात के मामले में ड्यूटी टैक्स चोरी की शिकायत की थी। इसके बाद सीबीआई ने 20 करोड़ रुपये के अवैध कार आयात मामले में स्टालिन के घर छापेमारी की। अब कहा जा रहा है कि स्टॅलिन का नाम ऍफ़ ई आर में दर्ज़ नहीं है|
स्टालिन, करुणानिधि के परिवार के तीसरे सदस्य हैं जिससे सीबीआई पूछताछ कर रही है। इससे पहले 2011 में उनकी मां दयालु अम्मल और बहन कनीमोझी से पूछताछ की गई थी।
बहरहाल, करुणानिधि के बेटे स्टालिन के घर सीबीआई छापे और उन्हें अचानक रोके जाने से फिर सवाल उठ रहे हैं|[१] क्या स्टॅलिन ने सरकार से समर्थन वापसी की कीमत चुकाई हैक्योंकि विदेशी कार आयात का ये मामला 5 साल पुराना है। तो सीबीआई अब तक चुप क्यों रही। जब तक डीएमके का साथ मिलता रहा, सीबीआई चुप रही,लेकिन डीएमके के समर्थन वापस लेते ही सीबीआई स्टालिन के घऱ पहुंच गई। कहा गया है कि एमके स्टालिन के पुत्र उदयनिधि इस अवैध विदेशी कार का उपयोग करते हैं और सीबीआइ पूरे मामले की जांच करने में जुटी है।
[२]पुरानी कहावत है कि अगर बहु [पुत्र वधु] को डांटना हो तो बेटी को सुनाया जाता है|कमोबेश सी बी आई की इस तरह से डी एम् के विरोधी कार्यवाही से मुलायम सिंह यादव को सन्देश दिया गया है|
[३] सपा द्वारा वेटिंग गेम का संकेत देते ही सी बी ई की कार्य वही क्यों रोक दी गई|
[४] वित्त मंत्री पी चिदम्बरम द्वारा सी बी आई कि इस छापे मारी पर असंतोष व्यक्त करते ही छापे मारी रोकी गई|इसे चिदम्बरम के अपने होम स्टेट तमिल नाडू में कद बढाने के कदम के रूप में देखा जा रहा है
[५]भाजपा प्रकाश जावडेकर और सपा के नरेश अग्रावाल ने संसद में इस मुद्दे उठाने का संकेत दिया है|बेशक सरकार की छवि कुछ प्रभावित हुई है लेकिन सरकार का संभावित राजनितिक उद्देश्य पूरा हो गया है|सपा ने सरकर से अपना समर्थन वापिस लेने में जल्द बाजी को त्याग कर वेटिंग गेम का एलान कर दिया है|

आतंकवादी कौन है और कौन सा पागल है यह तो जांच का विषय है :सी बी आई से पूछो

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

एक नया नया बना सोशलाईट

ओये झाल्लेया ये हसाड़े सोणे मुल्क में क्या गर्दी मची हुई है जिसे देखो एक दूसरे की पगड़ी उछालने में लगा हुआ है |ये राजनीतिक देश के दुःख से दुखी नहीं बल्कि अपने विरोधियों यहाँ तक ही अपने सहयोगियों के सुख से ज्यादा दुखी दिखने लगे हैं| अब देखो केन्द्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा और मुलायम सिंह यादव एक दूसरे की पगड़ी पे हाथ डाल रहे हैं |राज्य और देश की ज्वलंत समस्यायों से जनता का ध्यान बाँट रहे हैं|सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को गुंडा कहने से जब मन नहीं भरा तो अब मुलायम सिंह को आतंक वादी बताने लग गए हैं| लेकिन आतंकवादियों से संबंध होने का आरोप मढने वाले केन्द्रीय मंत्री सुरक्षा एजेंसियों के पास जाने को तैयार नहीं हो रहे|अपने प्राणों को मुलायम सिंह यादव से खतरा तो बता रहे हैं मगर ऍफ़ आई आर दायर नहीं करवा रहे|उधर सपा सुप्रीमो बेनी के इस आरोप को भुना कर मुस्लिम वोट बैंक को लुभा रहे हैं| मुलायम सिंह ने लखनऊ में बेनी प्रसाद का नाम लिए बगैर कहा, ‘एक केंद्रीय मंत्री कहता है कि मुलायम आतंकवादियों से मिले हैं। अगर मुसलमानों की तकलीफ सुनना, उनके बीच जाना आतंकवादियों से मिलना है तो मुझे कोई कुछ भी कहे फर्क नहीं पड़ता |इससे यह बात साफ जरुर हो गई है कि उस केंद्रीय मंत्री [बेनी]की नजर में मुसलमान आतंकवादी हैं।पार्टी प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि यह आरोप इसलिए लगाया है कि सपा प्रमुख मुसलमानों के साथ इंसाफ किए जाने की बात करते हैं।पहले पागल बताये गए बेनी बाबू अब राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की शाखा की उपज लगाने लग गए हैं |,

आतंकवादी कौन है और कौन सा पागल है यह तो जांच का विषय है :सी बी आई से पूछो

आतंकवादी कौन है और कौन सा पागल है यह तो जांच का विषय है :सी बी आई से पूछो


झल्ला

भापा जी थैली तो एक ही है|अब इसमें कौन आतंकवादी है और कौनसा पागल है +मुस्लिमो का दुश्मन है यह तो जांच का विषय है |सी बी आई से जांच करवाने के बाद ही कुछ असलियत का पता चल पायेगा इसीलिए आतंकवादी कौन है और कौन सा पागल है यह तो सी बी आई से पूछो

राजनीतिक हाथियों के दांत खाने और दिखाने के अलग अलग ही हैं:अन्तराष्ट्रीय महिला दिवस

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

महिला उत्थान गैर सरकारी संस्था की स्वयम्भू प्रेजिडेंट

ओये झल्लेया देखा हसाड़े प्रयासों का नतीज़ा ओये ८ मार्च के अन्तराष्ट्रीय महिला दिवस पर संसद से लेकर सड़क तक केंद्र से लेकर राज्यों तक केवल नारे बाज़ी ही नहीं हुई अनेकों हमारे वेल फेयर के काम भी किये गए हैं|[१]सोनीपत में भगत फूल सिंह महिलाविश्व विद्यालय में आज़ाद भारत का पहला [सरकारी]महिला अस्पताल खोल गया[२]दिल्ली के शास्त्री भवन में पहला महिला डाक खाना खोला गया ओये हसाडी कोउशिशोन का असर यूं पी में भी दिखाई दिया है| [३]यूं पी की विधानसभा में महिला सशक्तिकरण के लिए प्रस्ताव पारित कर दिया गया और [४] मेरठ में महिलाओं के लिए विशेष बस को भी हरी झंडी दिखा कर महिलाओं को समर्पित किया गया है|
अन्तराष्ट्रीय महिला दिवस

झल्ला

हाँ जी वाकई केंद्र +हरियाणा और उत्तर प्रदेश में नारी सम्मान बढाने के सराहनीय कार्य किये गए हैं |लेकिन दुर्भाग्य से राष्ट्र की सबसे बड़ी संस्था संसद में भाषणबाजी के बाद ज्यादातर अधिकाँश सीटें खाली ही रही| सदन चल रहे थे और माननीय सदस्य कार्यक्रमों में व्यस्त थे | यूं पी ऐ के चेयर पर्सन श्रीमती सोनिया गांधी हरियाणा के सोनीपत में महिला अस्पताल का उद्घाटन करने में व्यस्त दिखी तो माननीय मानव एवं कल्याण संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल पोस्ट आफिस में रहे|सपा के महासचिव प्रो.राम गोपाल यादव मेरठ में शिक्षण संस्थान में डिग्रियां बाँट रहे थे |लेकिन आश्चर्यजनक रूप से विपक्षी दलों के भी अधिकांश खाली लाईनों पर राज्य सभा टी वी का कैमरा घूमता रहा|झल्लेविचारानुसार हाथी के दांत खाने और दिखाने के अलग अलग ही हैं वरना बलात्कारियों को हतोत्साहित करने वाला बिल संसद में पास हो चूका होता|दिल्ली की मुख्य मंत्री श्रीमती शीला दीक्षित को दुष्कर्म के आरोपियों की सिफारिश करने के लिए अपने ही प्रदेश में विरोध नहीं झेलना पड़ता

प्रो. रामगोपाल यादव से उद्यमियों ने मांगा मेरठ में एयर पोर्ट

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और सांसद प्रो. रामगोपाल यादव से उद्यमियों ने मांगा मेरठ में एयर पोर्ट

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और सांसद प्रो. रामगोपाल यादव से उद्यमियों ने मांगा मेरठ में एयर पोर्ट

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और सांसद प्रो. रामगोपाल यादव ने चलते संसद से कुछ समय निकाल कर मेरठ का दौरा किया |इस दौरे के दौरान उन्होंने कुछ समय उद्यमियों को भी दियाऔर उद्यमियों ने अवसर का लाभ उठाते हुए मुख्यत: मेरठ में एयरपोर्ट की स्थापना की मांग भी उठा दी|
बाई पास स्थित बांके बिहारी इंस्टीटयूट में आयोजित दीक्षांत समारोह के समापन के बाद मीडिया को एवोयड करते रहे लेकिन उद्यमियों से भेंट करने के लिए एक अलग कक्ष में पहुंचे|प्रो.रामगोपाल यादव को अलग-अलग वाणिज्यिक व व्यापारिक संगठनों ने मांग पत्र व ज्ञापन सौंपे। मुख्य रूप से इनका जोर करों में ढ़ांचागत सुधार और मेरठ में एयरपोर्ट की मांग रही। उनका कहना था कि एयरपोर्ट की स्थापना से न सिर्फ देश के बड़े शहरों से मेरठ की दूरी कम होगी बल्कि रोजगार के भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष मौके मिलेंगे। गौरतलब है कि मेरठ की मौजूदा हवाई पट्टी को प्रोमोट करके यहाँ एयर पोर्ट बनाने के लिए अरसे से मांग उठाई जा रही है जिसके लिए सिविल एविएशन मंत्री चो.अजित सिंह द्वारा अतिरिक्त भूमि की मांग की जारही है जबकि मुख्य मंत्री अखिलेश यादव का कहना है कि किसानो की बहुमूल्य भूमि को केंद्र सरकार का यह मंत्रालय फ्री में लेना चाहता है |इस पर सपा द्वारा पूर्व में एक तल्ख टिपण्णी भी की जा चुकी है कि अगर एक जहाज़ की खरीद में से कमीशन नहीं ली जाये तो यहाँ मेरठ में एयर पोर्ट बनाया जा सकता है|

वाणिज्य कर सलाहकार समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र मोहन अग्रवाल ने उद्यमियों को वोट बैंक बनने की सलाह दी

वाणिज्य कर सलाहकार समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र मोहन अग्रवाल ने उद्यमियों को वोट बैंक बनने की सलाह दी

वाणिज्य कर सलाहकार समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र मोहन अग्रवाल ने उद्यमियों को वोट बैंक बनने की सलाह दी

[मेरठ]सोमवार ४ मार्च को बांबे बाजार स्थित चैंबर में वेस्टर्न यूपी चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से बैठक का आयोजन किया गया| इसमें उत्तर प्रदेश वाणिज्य कर सलाहकार समिति के अध्यक्ष सुरेंद्र मोहन अग्रवाल को 17 सूत्रीय एजेंडा सौंपकर शीघ्र समाधान की मांग की गई । इसके उत्तर में उद्यमियों को वोट बैंक बनने की सलाह दी गई|
गाजियाबाद इंडस्ट्रीज फेडरेशन के जनरल सेक्रेटरी अनिल कुमार गुप्ता ने अग्रवाल से कहा कि उद्यमी वर्ग का वोट बैंक न होने के कारण तवज्जो नहीं दी जाती। इसी कारण मुख्यमंत्री ने अभी तक एक बार भी उद्यमियों को मिलने तक का समय नहीं दिया। इस पर श्री अग्रवाल का सुझाव था की वोट बैंक बनोगे तभी तुम्हारी सुनी जायेगी|
सपा उप्र व्यापार सभा प्रदेश अध्यक्ष गोपाल अग्रवाल ने कहा कि उद्यमी राजनीतिकरण करें और राजनीति का हिस्सा बनें। अग्रवाल ने कहा कि जीएसटी का प्रारूप तैयार करने पर मंथन चल रहा है। इसके अनुसार गुड्स डिलीवरी पर सभी राज्य सरकारें संयुक्त रिपोर्ट तैयार करेंगी और केंद्र सरकार सर्विस टैक्स पर रिपोर्ट बनाएगी। समन्वय समिति दोनों रिपोर्ट पर जीएसटी की रिपोर्ट तैयार करेगी।
जिला मेरठ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसो. अध्यक्ष इंद्रपाल सिंह, महामंत्री रजनीश कौशल और कोषाध्यक्ष घनश्याम मित्तल ने सुरेंद्र मोहन अग्रवाल को ज्ञापन सौंपकर मांगों पर अमल करने की मांग की। अग्रवाल ने देर शाम सर्किट हाउस में वाणिज्य कर अधिकारियों को वसूली बढ़ाने के निर्देश दिए। एडिशनल कमिश्नर किरन कुमार, ज्वाइंट कमिश्नर एसआईबी राम प्रसाद, ज्वाइंट कमिश्नर केएल कुरील मौजूद रहे।