Ad

Tag: RJD

Babulal Marandi Elected Leader of BJP Legislative Party

(Ranchi)Babulal Marandi Elected Leader of BJP Legislative Party
Former Jharkhand chief minister Babulal Marandi was on Monday unanimously elected as leader of the BJP Legislative Party.
Marandi had on February 17 merged his Jharkhand Vikas Morcha (Prajatantrik) (JVM-P) party with the BJP at a formal merger ceremony in the presence of Union Home Minister Amit Shah
MLAs elected their leader on the call of the party’s central observer Muralidhar Rao.
In all, 25 BJP MLAs were present.
Marandi headed the first BJP government in the state in 2000.
He, however, quit the party following differences with the party leadership and floated JVM-P in 2006.
The saffron party had not elected its Legislative Party leader after the state polls in November-December last year.
With the arrival of Marandi, the BJP’s number has swelled to 26 in the Jharkhand Assembly.
The ruling JMM-Congress-RJD has a combined strength of 47 in the House.

नितीश अस्पताल में एडमिट,आरजेडी भी बिहार की सत्ता पर दावा ठोकेगी?

[नई दिल्ली] नितीश अस्पताल में एडमिट,आरजेडी भी बिहार की सत्ता पर दावा ठोकेगी?
भाजपा के सहयोगी बिहार के सीएम नितीश भी अस्पताल में एडमिट |क्या अब विपक्षी आरजेडी सत्ता पर दावा ठोकेगी ? जे डी यूं के ६७ वर्षीय नितीश कुमार को आज प्रातः एम्स के प्राइवेट वार्ड में भर्ती कराया गया है| गौरतलब हे के भाजपा के गोवा में मुख्य मंत्री मनोहर पर्रिकर भी अस्पताल में भर्ती हैं उनकी अनुपस्थिति पर गोवा की विपक्ष में कांग्रेस पार्टी ने सत्ता पर दावा ठोका है|अब बिहार में भी मुख्य मंत्री की अनुपस्थिति को मुद्दा बना कर कांग्रेस की सहयोगी आर जे डी भी सत्ता पर दावा ठोक सकती है
फाइल फोटो

कैदी लालू से मुलाकत से पहले क्या राहुल के हाथ पर मोहर लगी थी

झल्ले दी झल्लियाँ गल्लां

कांग्रेसी चीयर लीडर

औए झल्लेया! मोदी राज में ये क्या हो रहा है? हसाड़े राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी जी ने राजद सुप्रीमो श्रीमान आदरणीय लालू प्रसाद यादव जी से AIIMSअस्पताल में क्षणिक मुलाक़ात क्या कर ली ,इस मरकजी हुकूमत में भूंचाल आगया| बीमार लालू जी को वापिस रांची भेज दिया |औए ये तो जनसेवकों का सरासर अनादर है उनके साथ नाइंसाफी है

झल्ला

मेरे चतुर सुजान!क्यों हो रहे हो इतना हलकान| पहले ये आपके लालू जी AIIMS में आना नहीं कहते थे अब यहाँ से जाना नहीं चाहते | अरे इनकी लालटेन में काम हो रहे तेल की भरपाई के लिए राहुल गाँधी आने लग गए तो सरकार भी रोटी को चोची नहीं कहते | शुक्र मनाओ कैदी लालू से मुलाकात के लिए राहुल गाँधी को आज्ञा मिल गई वर्ना जेल के गेट पर ही मुलाकाती के हाथ में रबर की मोहर लगाईं जाती है| कैदी लालू से मुलाकत से पहले क्या राहुल के हाथ पर मोहर लगी थी ???

RJD’s HistorySheeter Shahabuddin Surrenders Before Siwan Court,Sent to Div jail

[PatnaNew Delhi] RJD’s HistorySheeter Leader M Shahabuddin Surrenders Before Siwan Court, Sent to Divisional jail
The Supreme Court today set aside the Patna High Court order granting bail to controversial RJD leader Shahabuddin in a murder case.
The apex court ordered that either the gangster-turned- politician should surrender or Bihar Police should take him in custody “forthwith”.
A bench comprising Justice P C Ghose and Amitava Roy directed the state government and the lower court to ensure that the trial in the Rajiv murder case is concluded “expeditiously as contemplated under the law”.
Meanwhile, the court issued notice to Shahabuddin and Bihar government on another plea seeking cancellation of bail granted to him in a murder case of two brothers of Roshan.
Shahabuddin has been awarded life imprisonment in the twin murder case and the Patna High Court had granted him bail in this matter as well.
The apex court, which yesterday reserved its verdict on two appeals challenging the grant of bail to him by the Patna High Court, had rebuked Nitish Kumar-led Bihar government, which has RJD as its coalition partner, for its lax approach in opposing the bail granted to the RJD strongman in various cases at different judicial forums including the High Court.

पत्रकार की हत्या में वांछित लड्डन मियाँ ने समर्पण किया

[सिवान,बिहार]पत्रकार की हत्या में वांछित लड्डन मियाँ ने समर्पण किया| लड्डन को आरजेडी के जेल में बंद दबंग मोहम्मद शाहबुद्दीन का कृपापात्र बताया जा रहा है| पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या में मुख्य आरोपी लड्डन मियाँ ने आज सिवान की चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट कोर्ट में सरेंडर किया | चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट अरविन्द कुमार सिंह ने लड्डन को १४ दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया

मुस्लिम वोट बैंक को कांग्रेस की तरफ लौटाने की नीति में मणिशंकर ने नए विवाद को जन्म दिया

Aiyar’s remarks on Pak channel stoke controversy
[New Delhi]मुस्लिम वोट बैंक को कांग्रेस की तरफ लौटाने की नीति का पालन करते हुए मणिशंकर अय्यर ने नए विवाद को जन्म दे दिया |पाकिस्तानी “दुनिया” न्यूज़ चैनल पर एक बहस में अय्यर ने पाकिस्तान के साथ कश्मीर पर बातचीत के लिए नरेंद्र मोदी को हटा कर कांग्रेस को सत्ता में लए जाने की दरख्वास्त कर डाली|यदपि कांग्रेस ने तत्काल इसका खंडन कर दिया है लेकिन भगवा धारियों ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से स्पष्टीकरण माँगा है |कांग्रेस वरिष्ठ नेता अय्यर ने कहा के हमें [कांग्रेस]को सत्ता में लाओ और उन्हें[मोदी]को हटाओ अन्यथा पाकिस्तान और भारत में बातचीत सम्भव नही होगी
बिहार में कांग्रेस के नए बने मित्र आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा ने यह कह कर अय्यर की आलोचना की है के किंडरगार्टन का स्टूडेंट भी ऐसी बेवकूफाना स्टेटमेंट नही दे सकता |बीते सप्ताह भी अय्यर ने पेरिस हत्याकांड पर एक अनावश्यक विवाद को जन्म देते हुए कहा था के वेस्टर्न कन्ट्रीज में इस्लाम विरोधी फोबिया बंद कर देना चाहिए

हरियाणा मंत्री अनिलविज ने बिहार में महागठबंधन की जीत को देश की एकता के लिए”अशुभ”बताया

[चंडीगढ,हरियाणा] हरियाणा मंत्री अनिलविज ने बिहार के चुनाव परिणामों को देश की एकता+अखंडता के लिए”अशुभ”बताया
हरियाणा के वरिष्ठ मंत्री अनिल विज अपनी बेबाक टिपण्णियां के लिए जाने जाते हैं\अभी हाल ही में उन्होंने गाय को राष्ट्रिय पशु घोषित किये जाने की मांग भी उठाई थी
स्वास्थ्य मंत्री ने बिहार चुनाव के परिणाम को देश के लिए ‘अशुभ’ बताते हुए आज दावा किया कि पूर्वी राज्य में देश की एकता+अखंडता + विकास पर जाति आधारित राजनीति की जीत हुई है।
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री और अंबाला छावनी से पांच बार विधायक चुने गए विज ने ट्वीट किया,
‘‘ बिहार चुनाव में जातिवादी राजनीति जीत गई और एकता, अखंडता , विकास हार गए। देश के लिए बहुत अशुभ है।
गौरतलब हे के जेडीयूं +राजद + कांग्रेस के ‘महागठबंधन’ ने बिहार विधानसभा चुनाव में दो तिहाई बहुमत हासिल करके भाजपा नीत राजग के खिलाफ शानदार जीत हासिल कीहै । इसके साथ ही नीतीश कुमार को उस चुनावी जंग में जीत के बाद तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी संभालने का अवसर मिलेगा, इन चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीत के लिए भरसक कोशिश की थी।
नवगठित जदयू-राजद-कांग्रेस गठबंधन ने 243 सदस्यीय सदन में 178 सीटों पर जीत दर्ज की राजद ने बिहार के राजनीतिक मंच पर शानदार वापसी की और 80 सीटों पर जीत दर्ज की जबकि जदयू ने 71 सीटों पर जीत प्राप्त की। कांग्रेस ने भी 41 में से 27 सीटों पर जीत दर्ज की है ।

बिहार के जंगलराज V/S कमंडलराज में चन्दन कुमार+भुजंग प्रसादों की थाली में से सारी ही जा रही है?

झल्ले दी झल्लियां गल्लाँ

कांग्रेसी चीयर लीडर

ओये झल्लेया देख हसाडे राजनीति फिर चमक उठी ओये बिहार में हमने नितीश कुमार के न्रेतत्व में सबको इकट्ठा कर दिया अब तो भाजपा की बिहार के विधानसभा के चुनावों में छुट्टी हुई ही समझो

झल्ला

ओ मेरे चतुर सुजाण जी! बिहार में व्याप्त जंगलराज और कमंडल राज की जंग में चन्दन कुमार और भुजंग प्रसादों की थाली में से सारी ही जाती दिख रही है इसीलिए आप लोग बाँट कर खाना चाह रहे होंगें

नितीश और लालू ने सोनिया का बिहार में कहना माना ,डूबता इनका ये नाखुदा क्या गुल खिलायेगा

नितीश और लालू ने सोनिया का कहना माना
डूबता इनका ये नाखुदा क्या गुल खिलायेगा ?
माइनस +माइनस किताबों में प्लस होते हैं
बिहार के चुनावों में क्या ये जादू हो पायेगा??
कश्तियाँ उनकी क्या किनारे पे उत्तर पाएंगी ???
बिहार में पतवार जिन्होंने कांग्रेस को थमा दी है
वापिसी उनकी बिहार में क्या हो पाएगी ????
नाखुदा जिन्होंने कांग्रेस को बना रखा है

मांझी की नावं को ऊंची सियासी लहरों से भाजपा की पतवारें भी संभाल नही पाई:बिहार सीएम का इस्तीफ़ा

[पटना]जीतन राम मांझी की नावं को ऊंची सियासी लहरों से भाजपा की पतवारें भी संभाल नही पाई | नतीजतन आज विधान सभा में विश्वास मत प्राप्त करने की औपचारिकता से पूर्व ही सीएम ने इस्तीफ़ा दे दिया लेकिन जाते जाते उन्होंने नीतीश कुमार के जे डी [यूं ]को महादलित विरोधी और भ्र्ष्टाचार की जननी बताने में कोई कसर नहीं छोड़ी |भावपूर्ण भाषण रूपी प्रेस कांफ्रेंस में मांझी ने स्वयं को उच्च वर्ग का शिकार साबित करने का भी भरपूर प्रयास किया | सम्भवत यही भाजपा का गेम प्लान भी रहा होगा |
अपनी प्रेस कांफ्रेंस में मांझी ने जहाँ एक तरफ स्पीकर को अलोकतांत्रिक बताया तो उसके साथ ही जे डी [यूं]पर विधायकों की खरीद फरोख्त करने और मांझी और उनके समर्थकों को धमकाने के आरोप भी उछाले|मांझी ने दावा किया के गुप्त मतदान होने पर उन्हें ५१ विधायकों का समर्थन मिल सकता था भाजपा के समर्थन से आसानी से वोह सरकार का बहुमत सिद्ध कर सकते थे लेकिन स्पीकर ने सदन में अलोकतांत्रिक ढंग से सिटिंग व्यवस्था कराइ उनके लिए कोई स्थान निश्चित नहीं किया गया
गवर्नर ने जीतन राम मांझी का इस्तीफा स्वीकार कर लिया और नई व्यवस्था होने तक सी एम बने रहने का फैंसला दिया| इसे पूर्व अपने रूख को स्पष्ट करते हुए भाजपा द्वारा जीतनराम मांझी को समर्थन देने जा चुकी थी