Ad

Tag: PMNRF

पीएमएनआरएफ जिस उद्देश्य के लिए बना था उसे भजपा भी भूली

#भाजपाई चेयर लीडर
ओए झल्लेया!इन कांग्रेसियों ने 1947 के रिफ्यूजियों के कल्याण के लिए #पीएमएनआरएफ फण्ड में पैसे बटोरे और उसे एक ही परिवार की संस्थाओं में खपाने का घोर अपराध किया ।अब हसाडे माननीय नरेंद्र भाई दामोदरदास मोदी जी ने इस कलंक से छुटकारा पाने के लिए पीएम केअर फण्ड बनाया तो पूरी संसद ही सर पर उठाने को उतावले हो गए ।और तो और अपने हुक्मरानों को खुश करने के लिए पूरे #हिमांचलप्रदेश को ही गालियाँ देने लग गए
#झल्ला
Polish_20200920_055745850ओ मेरे चतुर सेठ जी! पीएमएनआरएफ जिस उद्देश्य के लिए बना था उसे भजपा भी भूली
आप लोग संसद में भी ये तो स्वीकर कर रहे हो कि #पीएमएनआरएफ रिफ्यूजियों के लिए बनाया गया था लेकिन आज भी हजारों रिफ्यूजी परिवार अपने हक के #कंपनसेशनक्लेम के लिए दर दर भटक रहे हैं और यह फण्ड पड़ा पड़ा चौड़ा हो रहा है और आप लोग भी खामोश हैं

मोदीभापे!पीएमएनआरएफ को हकदारों में बांटों

#भजपाई चीयर लीडर
ओए झल्लेया मुबारकां!
ओए
राष्ट्र की उच्चतम न्यायालय ने भी #पीएमकेयर्स में मिली धनराशि राष्ट्रीय आपदा मोचन कोष (#एनडीआरएफ ) में स्थानांतरित करने का निर्देश देने से इंकार कर दिया
अब तो राहुल गांधी के ‘कुटिल’ मंसूबों पर पानी फिर गया
और अपनी झेंप मिटाने को कह रही है कि पीएम केयर्स पर उच्चतम न्यायालय का फैसला ‘पारदर्शिता के लिए झटका’ है
#झल्ला
सेठ जी!
#PMNRF को आजादी के बाद आने वाले रिफ्यूजियों के कल्याण के लिए बनाया गया था तो क्या उस फंड का अब सदुपयोग होगा??????

पीएमओ ने पीएम्ऍनआरएफ’ में प्राप्त सर्शत दान को पहले ही अस्वीकार कर लौटा दिया था

[नयी दिल्ली] पीएमओ ने ‘पीएम्ऍनआरएफ’ में प्राप्त सर्शत दान को पहले ही अस्वीकार कर लौटा दिया था|पी एम् ओ के अनुसार पी एम् ऍन आर एफ में दान सशर्त स्वीकार नहीं किया जाता
प्रधानमंत्री राहत कोष को दिए गए एक लाख र. के सशर्त दान को प्रधानमंत्री कार्यालय [पीएमओ] ने वापस लौटा दिया है।
पीएमओ सशर्त दान स्वीकार नहीं करता है और इस दान के साथ यह शर्त जोड़ दी गई थी कि यह राशि देश के ‘‘सबसे गरीब’’ व्यक्ति को दी जानी चाहिए।
यह मामला मुख्य सूचना आयुक्त [सीआईसी] आर के माथुर के सामने आया था जिसमें एक आरटीआई कार्यकर्ता दीप चंद्र शर्मा ने पीएमओ को दिए गए एक लाख र. के दान की स्थिति जाननी चाही थी।
10 जून, 2015 को दिए गए इस दान के साथ एक पत्र भी था जिसमें लिखा गया था कि यह राशि देश के सबसे गरीब व्यक्ति को दी जाए अन्यथा यह उन्हें वापस लौटा दी जाए।
पीएमओ को भेजे गए आरटीआई आवेदन में सीकर के रहने वाले शर्मा ने अपने चेक के संबंध में सूचना मांगी थी कि यह राशि किस उद्देश्य के लिए इस्तेमाल की गई, साथ ही चेक की रसीद भी मांगी गई थी।
प्रधानमंत्री कार्यालय ने सीआईसी को बताया कि यह दान आवेदक को 18 मार्च, 2016 को लौटा दिया गया है और इसकी वजह यह है कि यह ‘‘सर्शत दान’’ था।
प्रधानमंत्री राहत कोष में स्पष्ट उल्लेख है कि ‘‘सशर्त दान, जिनमें दानदाता ने विशेष तौर पर उल्लेख किया हो कि उसका दान किसी विशेष उद्देश्य के लिए ही इस्तेमाल किया जाए, वह इस कोष में स्वीकार्य नहीं है।’’ माथुर ने अपने आदेश में कहा है, ‘‘प्रतिवादी :पीएमओ: ने कहा है कि यह पता चलने पर कि दिया गया चेक सर्शत दान है, उसकी वापसी की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। प्रतिवादी का कहना है कि अपीलकर्ता द्वारा दान की गई राशि उसे लौटा दी गई है। इसलिए अपीलकर्ता के दान के संबंध में कोई सवाल उठता ही नहीं है।’’ पीएमओ पर जुर्माना लगाने की शर्मा की याचिका भी आयोग द्वारा रद्द कर दी गई

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से एक वर्ष में सर्वाधिक राहत :रु ५५२ .५९ करोड़ राहत में दिए

[नई दिल्ली]प्रधान मंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से गए वित्तीय वर्ष में रु ५५२ .५९ करोड़ की सहायता प्रदान की गई है |
बीते अनेकों वर्षों में यह राशि सबसे अधिक है|इस कोष में दान देने में भी कई गुना वृद्धि दर्ज की गई है जोकि रु ७२३ .९२ करोड़ है |सहायता राशि दिए जाने के उपरान्त अभी तक
इस कोष में रु २६८१ .३५ करोड़ शेष दिखाए गए हैं|
नरेन्द्र मोदी ने 26 मई 2014 को भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली और वे आजादी के बाद जन्मे पहले पीएम् बने |इस कोष में उनका स्वयम का भी अंशदान है
ऊर्जावान, समर्पित एवं दृढ़ निश्चय वाले मोदी मई 2014 में अपना पद संभालने के बाद से ही अंतिम व्यक्ति तक सेवा पहुंचाने के सिद्धांत से अत्यधिक प्रेरित हैं सम्भवत इसीलिए उन्होंने इस लगभग मृतप्राय कोष में प्राण फूंके जिसके फलस्वरूप अंशदान में वृद्धि हुई और उन्होंने दिल खोल कर सहायता भी प्रदान की|
पाकिस्तान से विस्थापित लोगों की मदद करने के लिए जनवरी, 1948 में जनता के अंशदान से प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष की स्थापना की गई थी।
प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष की धनराशि का इस्तेमाल अब प्रमुखतया बाढ़, चक्रवात और भूकंप आदि जैसी प्राकृतिक आपदाओं में मारे गए लोगों के परिजनों तथा बड़ी दुर्घटनाओं एवं दंगों के पीड़ितों को तत्काल राहत पहुंचाने के लिए किया जाता है।
इसके अलावा,हृदय शल्य-चिकित्सा, गुर्दा प्रत्यारोपण, कैंसर आदि के उपचार के लिए भी इस कोष से सहायता दी जाती है।
यह कोष केवल जनता के अंशदान से बना है और इसे कोई भी बजटीय सहायता नहीं मिलती है। समग्र निधि का सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में विभिन्न रूपों में निवेश किया जाता है।
कोष से धनराशि प्रधान मंत्री के अनुमोदन से वितरित की जाती है। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष का गठन संसद द्वारा नहीं किया गया है।
इस कोष की निधि को आयकर अधिनियम के तहत एक ट्रस्ट के रूप में माना जाता है और इसका प्रबंधन प्रधानमंत्री अथवा विविध नामित अधिकारियों द्वारा राष्ट्रीय प्रयोजनों के लिए किया जाता है।
प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में किसी व्यक्ति और संस्था से केवल स्वैच्छिक अंशदान ही स्वीकार किए जाते हैं। सरकार के बजट स्रोतों से अथवा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के बैलेंस शीट्स से मिलने वाले अंशदान स्वीकार नहीं किए जाते हैं।
[१]२०१० -११ (ए)१५५ .१९ १८२ .३३ १६२५ .६४
[२]२०११ -१२ (ए)२०० .७९ १२८ .४३ १६९८ .00
[३]२०१२ -१३ (ए)२११ .४२ १८१ .६२ १७२७ .८०
[४]२०१३ -१४ (ए)५७७ .१९ २९३ . ६२ २०११ .३७
[५]२०१४ -१५ (ए) ८७० .९३ ३७२ .२८ २५१० .०२
[६] ३१/३/२०१६ ७२३ .९२ ५५२ .५९ २६८१ .३५
तक
पी एम् ओ से साभार

PM Advises DNA Test Of Unidentified Bodies: Kollam Temple Fire

[Kollam,Kerala]PM Advises DNA Test Of Unidentified Bodies:Kollam Temple Fire
PM visited accident spot .
Prime Minister Narendra Modi today visited the Puttingal Devi Temple premises and took stock of the situation arising out of the mishap that claimed 100 lives and left over 383 injured.
Along with Chief Minister Oommen Chandy + State Home Minister Ramesh Chennithala
P M Modi went around the accident site littered with debris of the two buildings, including the ‘Kambapura’, storehouse where the crackers and fireworks display materials had been stocked, that were completely razed to the ground in the explosion.
The Prime Minister also saw the concrete bars, twisted wires and cables.
Later talking to reporters, Chennithala said the Prime minister had enquired about the unidentified bodies and said DNA tests should be done if necessary.
Chandy informed him that government had already taken steps in this regard.
Chennithala said the PM also enquired about the compensation to be given to those affected.
The Prime Minister later visited the Kollam district hospital to see the injured people.PM And State Govt Have Announced Compensation For Victims

Smt Sonia Expresses Grief Over Kollam Temple Tragedy

[New Delhi]Congress President Smt Sonia Expresses Grief Over Kollam Temple Tragedy
Congress President Sonia Gandhi today expressed grief over the loss of lives in the temple fire tragedy in Kerala that has left over 90 dead.And 350 Injured
Praying for the departed souls and well being of the injured, she has asked the state government to ensure ample and immediate relief measures.
The fire mishap at the Puttingal Devi Temple in Kerala’s Kollam district during a display of fireworks has left 90 people dead and 350 others injured.

आदरणीय कुलदीप नैय्यर जी!”पार्टीशन म्यूजियम प्रोजेक्ट” में पुनर्वास योजना से वंचितों के दर्द सहेजे जायेंगे?

झल्ले दी झल्लियां गल्लाँ

पंजाबी पुरुषार्थी

ओये झल्लेया ये तो कमाल हो गया ओये हसाडे दिग्गज कुलदीप नैय्यर के छह दशक पुराने ड्रीम को साकार करने के लिए दिल्ली में “पार्टीशन म्यूजियम “का उद्घाटन हो ही गया|ओये विश्व के इस सबसे बढे पलायन से संबंधित दस्तावेज+फ़ोटोस+वक्तव्य +अनुभव इस पार्टीशन म्यूजियम प्रोजेक्ट में सहेजे जायेंगे,ओये १९४७ में हम पर हुए जुल्मों का आने वाली पीढ़ियों को भी अहसास होगा

झल्ला

ओ भापा जी ये तो ठीक है लेकिन इस पलायन के लाखों पीड़ितों को राष्ट्रीय पुनर्वास योजना से वंचित रखा गया |रिहैबिलिटेशन क्लैम देने के नाम पर मजाक किया गया जिसके फलस्वरूप आज भी हजारों पीड़ितों के वंशज अपने हक के लिए दर दर भटक रहे हैं |हरियाणा में दस्तावेज नहीं हैं और पंजाब में जमीन ही नही है|अधिकाँश पर कब्जे हुए हैं |इनके कल्याण के लिए बनाये गए राष्ट्रीय फण्ड को भी अब पी एम एन आर ऍफ़ बना कर इनसे दूर कर दिया गया है |आदरणीय कुलदीप जी इनके हक के लिए भी कुछ होगा या नहीं?

,

दैनिक सवेरा टाइम्‍स’ के सौजन्य से एकत्रित एक करोड़ रुपये आज प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय राहत कोष में दिए

[नई दिल्ली]दैनिक सवेरा टाइम्‍स’ के सौजन्य से एकत्रित एक करोड़ रुपये आज प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय राहत कोष में दिए ‘दैनिक सवेरा टाइम्‍स’ के पाठकों द्वारा दान किये गए एक करोड़ रुपयों का ड्राफ्ट आज प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय राहत कोष में दिया गया
सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री विजय सांपला ने आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी से मुलाकात की और उन्‍हें प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) के लिए 1 करोड़ रुपये की राशि का ड्राफ्ट भेंट किया। इस राशि का योगदान ‘दैनिक सवेरा टाइम्‍स’ के पाठकों ने किया है।
फोटो कैप्शन
The Minister of State for Social Justice & Empowerment, Shri Vijay Sampla calling on the Prime Minister, Shri Narendra Modi and presented him drafts worth Rs. 1 Crore towards the Prime Minister Nation Relief Fund (PMNRF), in New Delhi on August 11, 2015. The amount was contributed by the readers of the newspaper “Dainik Savera Times”.

PK’s Chopra And Khanna MP Presented Drafts@Rs 2.40 Crores to PM For PMNRF

PK’s Chopra And Khanna “MP” Presented Drafts@Rs 2.40 Crores to PM For PMNRF
Punjab Kesari’s Chopra And RS MP Khanna presented Drafts @ Rs 2.40 Crores towards PMNRF to PM
Avinash Rai Khanna, MP, Rajya Sabha and Vijay Kumar Chopra, Editor-in-Chief, Punjab Kesari Group called on the Prime Minister, Narendra Modi today and presented drafts worth over Rs 2.40 crore towards Prime Minister’s National Relief Fund (PMNRF), on behalf of the Punjab Kesari Group.
Photo Caption
The Prime Minister, Shri Narendra Modi being presented the Drafts worth over Rs. 2.40 crore by Shri Avinash Rai Khanna, MP, Rajya Sabha and Shri Vijay Kumar Chopra, Editor-in-Chief, Punjab Kesari Group, towards the Prime Minister’s National Relief Fund (PMNRF), on behalf of the Punjab Kesari Group, in New Delhi on July 22, 2015.

PM Condoled Deaths In Landslides In Darjeeling,Announced Compensation@Rs.2lakhFrom PMNRF

[New Delhi]PM Condoled Deaths In Landslides In Darjeeling And Announced Compensation @Rs 2 Lakh From PMNRF
About 25 people have lost their lives in several parts of Darjeeling district in West Bengal.
Prime Minister Of India condoled the loss of lives due to the landslides in Kurseong and Kalimpong areas in Darjeeling district of West Bengal. And Announced compensation for landslide victims
The Prime Minister, Narendra Modi has condoled the loss of lives due to the landslides in Kurseong and Kalimpong areas in Darjeeling district of West Bengal. The Prime Minister has announced a compensation of Rs. 2 lakh from the Prime Minister’s National Relief Fund, to the families of the deceased. This amount will be in addition to the compensation of Rs. 4 lakh to be given from the National Disaster Relief Fund.
The Union Home Minister, Shri Rajnath Singh spoke to the Chief Minister of West Bengal, Ms. Mamta Banerjee and assured all possible assistance from the Centre. He directed the authorities to take up the rescue and relief operations immediately. Two National Disaster Response Force teams have been dispatched for rescue operations.
On the instruction of the Prime Minister, a high level team headed by the Union Minister of State for Home Affairs, Shri Kiren Rijiju is leaving for Kurseong and Kalimpong to take stock of the situation. Shri Rijiju will be accompanied by the Member of Parliament, Darjeeling, Shri S.S. Ahluwalia and the Deputy Inspector General (Operations), NDRF, Shri S.S. Guleria.